Ranjish Hi Sahi Lyrics

Song Credits:
Song – Ranjish Hi Sahi
Artist – Nisar Bazmi
Producer & Director – Strings

Ranjish Hi Sahi Lyrics in Hindi

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिये आ

अब तक दिल-ए-खुशफ़हम को हैं तुझ से उम्मीदें
ये आखिरी शम्में भी बुझाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

इक उम्र से हूँ लज्ज़त-ए-गिरया से भी महरूम
ऐ राहत-ए-जां मुझको रुलाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

कुछ तो मेरे पिन्दार-ए-मोहब्बत का भरम रख
तू भी तो कभी मुझ को मनाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

माना के मोहब्बत का छुपाना है मोहब्बत
चुपके से किसी रोज़ जताने के लिए आ
रंजिश ही सही…

जैसे तुम्हें आते हैं ना आने के बहाने
ऐसे ही किसी रोज़ न जाने के लिए आ
रंजिश ही सही…

पहले से मरासिम ना सही फिर भी कभी तो
रस्म-ओ-रहे दुनिया ही निभाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

किस किस को बताएँगे जुदाई का सबब हम
तू मुझ से खफा है तो ज़माने के लिये आ
रंजिश ही सही…

Ranjish Hi Sahi Lyrics in English

Ranjish hi sahi dil hi dukhaane ke liye aa
aa phir se mujhe chhoR ke jaane ke liye aa

pehle se maraasim na sahi phir bhi kabhi to
rasm-o-rahe duniya hi nibhaane ke liye aa

kis kis ko bataayenge judaai kaa sabab ham
tu mujh se khafaa hai to zamaanay kay liye aa

ab tak dil-e-khush_feham ko tujh se hain ummeedain
ye aakhari shammain bhi bujhaane ke liye

ek umr se hun lazzat-e-giryaa se bhi mehruum
aye raahat-e-jaan mujh ko rulaane ke liye aa

kuchh to meri pindaar-e-mohabbat ka bharam rakh
tu bhi to kabhi mujh ko manaane ke liye aa

ek umra se hun lazzat-e-giriya se bhi maharoom
e rahat-e-jan mujh ko rulane ke liye aa

Song Credits:
Song – Ranjish Hi Sahi
Artist – Nisar Bazmi
Producer & Director – Strings
Music Director – Jaffer Zaidi
Lyricist – Ahmed Faraz
Additional Lyrics Writer – Talib Baghpati

Ranjish Hi Sahi Lyrics